Aquarius (कुंभ)

जनवरी और मार्च के मध्य आपकी राशि के लिए ग्रह स्थिति बहुत ही अनुकूल है। आपके एकादश भाव में पंचग्रहीय योग बन रहा है। यह भाव इच्छापूर्ति का घर है। अतः अपनी योजनाओं को क्रियान्वित रूप देने के लिए बेहतरीन समय है। विदेश में विदेश में भी रोजगार संबंधी कार्यों में सफलता मिलेगी। पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। अपनी ऊर्जा को उचित दिशा में लगाने के लिए प्रकृति भी सहायता करेगी।

अप्रैल से जून के मध्य शनि और बृहस्पति द्वादश भाव में गोचर करेंगे। शनि की साढे साती तथा बृहस्पति भी मकर राशि, अपनी नीचस्थ राशि में होंगे। परन्तु चिंता की कोई बात नहीं है। शनि स्वराशि में होने से तथा बृहस्पति का नीचभंग होने से नुकसानदायक स्थिति नहीं है। सिर्फ धन संबंधी कार्यों में सावधानी रखें। जोखिमपूर्ण कार्यों को टाल दें। कागज संबंधी कोई भी कार्यवाही ध्यानपूर्वक करें।

जुलाई से 20 नवम्बर के मध्य रूके हुए कार्यां में दोबारा गति आयेगी। बृहस्पति पुनः एकादश भाव यानि अपनी राशि धनु में आ जायेंगे। नये संबंध बनेंगे। धन संबंधी कार्यों में सुधार होगा। कोर्ट-कचहरी संबंधी मामले सुलझेंगे। जमीन-जायदाद संबंधी योजनाएं बनेंगी।

20 नवम्बर से दिसम्बर के दौरान बृहस्पति पुनः आपकी राशि से द्वादश भाव में आ जायेगा। इस समय आपको मिश्रित फल प्राप्त होंगे। धन संबंधी योजनाओं पर एकाएक अमल न करें। स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहने की आवश्यकता है।