Aries (मेष)

वर्ष की शुरूआत बहुत ही शुभ ग्रह स्थिति से हो रही है। जनवरी से लेकर मार्च के मध्य मंगल को छोड़कर सभी प्रमुख ग्रह नवम भाव में विराजमान हैं। वर्ष की शुरूआत बहुत ही बेहतरीन रहेगी। भाग्य प्रत्येक कार्य में आपको सहयोग करेगा। धन, भूमि-भवन संबंधी योजनाएं क्रियान्वित होंगी। विदेश संबंधी महत्वपूर्ण कार्य भी संपंन होंगे। बौद्धिक उत्थान के लिए भी उत्तम समय है। आध्यात्म के क्षेत्र में भी रूचि बढ़ेगी।

अप्रेल से जून के मध्य का समय आपके लिए उत्तम फलदायी रहेगा। बृहस्पति मकर राशि यानि दशम भाव में आकर शनि के साथ युति बनायेगा अर्थात बृहस्पति मकर राशि में नीच हो जाता है परन्तु शनि के युति होने से यहां नीचभंग राजयोग बन रहा है। साथ ही शनि, बृहस्पति का केन्द्र-त्रिकोण संबंध दशम भाव में होन से उत्तम राजयोग बन रहा है। कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी अतः प्रेक्टिकल होकर आगे बढ़ें। घर परिवार में सुख-समृद्धि का वास होगा।

जुलाई से 20 नवम्बर के मध्य बृहस्पति पुनः धनु राशि में विचरण करेगा। 19 सितम्बर से राहू वृष और केतु वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे। यह समय नई योजनाओं को मूर्तरूप देने का है। साझेदार तथा विदेश संबंधी कार्यों के उचित समय है। अगर कोई भूमि संबंधी विवाद कोर्ट-कचहरी में चल रहा है तो उसे आपसी सहमति से सुलझाने का प्रयास करेंगे तो आपको सफलता प्राप्त होगी।

20 नवम्बर से दिसम्बर अंत तक बृहस्पति पुनः मकर राशि यानि दशम (कर्म) स्थान में प्रवेश कर शनि के साथ युति बनायेंगे। इस युति से शनि कर्मक्षेत्र का प्रबल करेंगे। आपकी राशि के लिए यह पूरा वर्ष सहयोगात्मक अनुकूल रहेगा। स्वास्थ्य संबंधी परेशानिया भी कम होंगी।