Cancer (कर्क)

वर्ष की शुरूआत यानि जनवरी से मार्च के मध्य महत्वपूर्ण ग्रह आपकी राशि से छटे भाव में गोचर करेंगे। छटे भाव में ग्रहों की यह स्थिति दो प्रकार स्थितियां निर्मित करती है। या तो पुरानी समस्याओं से निजात पा सकते हैं या और समस्याएं खड़ी हो सकती है। प्रत्येक स्थिति में समस्याओं का गौर से देखना होगा और उनका हल ढूंढना होगा। 24 जनवरी को शनि अपनी राशि मकर यानि आपके सप्तम भाव में प्रवेश करेगा। तब ग्रह भी आपके पक्ष में आना शुरू हो जायेंगे। परीक्षा, प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी। कोर्ट-कचहरी में चल रहे विवादित मामले सुलझेंगे। कोई भी समस्या या विवाद आपसी सहमति से सुलझायेंगे तो बेहतर रहेगा। साथ ही कुछ अस्त-व्यस्तता भी बनी रहेगी।

अप्रैल से जून के मध्य बृहस्पति अतिचारी होकर सप्तम भाव यानि मकर राशि में प्रवेश करेगा और शनि के साथ युति बनायेगा। यह युति कुछ राहत प्रदान करेगी। नयी पार्टनरशिप के ऑफर मिलेंगे। नौकरी, व्यवसाय में नये अनुबंध प्राप्त होंगे। देश-विदेश में काम बढ़ाने का उचित अवसर है। विवाह के इच्छुक जातकों के लिए शुभ समाचार मिलेंगे। मित्रों व शुभचिंतकों का सहयोग बना रहेगा।

जुलाई से 20 नवम्बर के मध्य बृहस्पति वक्रगति को प्राप्त कर पुनः धनु राशि में प्रवेश कर जायेगा। 19 सितम्बर को राहू भी आपकी राशि से एकादश भाव वृष राशि में और केतु पंचम भाव वृश्चिक राशि आ जायेंगे। यह ग्रह स्थिति मिश्रित परिणाम प्रदान करेगी। समस्याएं तो उत्पन्न होंगी लेकिन उन्हें हल करने के लिए आपको काफी मेहनत भी करनी पड़ेगी। कोई नया वाहन या भूमि संबंधी खरीददारी करने के लिए समय अच्छा है।

अब वर्ष के अंतिम चरण में बृहस्पति मार्गी होकर पुनः आपके सप्तम भाव में शनि के साथ युति कर लेगा। काफी हद तक परिस्थितियां आपके हक में होना शुरू हो जायेंगी। वर्ष का अंतिम पक्ष शुभ रहेगा। वर्ष की शुरूआत में जो संघर्ष की स्थिति थी अब उसके शुभ परिणाम मिलना प्रारम्भ हो जायेंगे।