Pisces (मीन)

जनवरी से मार्च के मध्य मीन राशि वाले जातकों का दशम भाव ज्यादा प्रभावित रहेगा। अधिकतर ग्रह दशम भाव को छू रहे होंगे तो वे ग्रह कारक बन जाते हैं और बुहस्पति यहां स्वराशि अर्थात धनु राशि के होकर अन्य ग्रहों को कंट्रोल करेंगे। जबकि 24 जनवरी को शनि मकर राशि यानि एकादश भाव में चला जायेगा। अतः अस समय जो भी योजनाएं हों उनका शुभारम्भ अभी से करेंगे तो अच्छी सफलता प्राप्त होगी। घर-परिवार के लिए यह ग्रह स्थिति शुभ है।

अप्रेल से जून के दौरान बृहस्पति अतिचारी होकर मकर राशि यानि एकादश भाव में प्रवेश करके शनि के साथ युति बनायेगा। हालांकि मकर राशि में बृहस्पति नीच हो जायेगा परन्तु शनि के साथ युति और एकादश भाव में होने के कारण लाभजनक स्थिति बनायेगा। कोई बीज बोया है तो अब फसल काटने का समय आ गया है। नये कार्यों की लाभदायक स्थिति बनेगी। योग्य मित्र मिलेंगे। आय के नये स्रोत बनेंगे। निसंदेह सफलता प्राप्ति का समय है।

जुलाई से 20 नवम्बर के मध्य बृहस्पति पुनः वक्री होकर दशम भाव में प्रवेश करेगा। 19 सितम्बर को राहू वृष राशि में तो केतु वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा। आगे बढ़ने के लिए उत्तम समय है। राजनैतिक संबंध बनेंगे। आर्थिक स्थिति में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। परिवार में मांगलिक कार्य संपंन होंगे और परिवार में हर्षोल्लास का माहौल बना रहेगा।

20 नवम्बर से दिसम्बर के दौरान बृहस्पति पुनः अपनी स्वराशि धनु से निकलकर मकर राशि में प्रवेश कर पहली वाली स्थिति निर्मित करेगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। पारिवारिक खुशनुमा महौल रहेगा। नये संबंध बनेंगे। लाभदायक यात्राओें को दौर रहेगा।